इस पुलिस कांस्टेबल ने अपनी जान पे खेलकर लड़की की इज्जत बचायी ! दिल्ली नहीं बन पायी बैंगलोर

0
36287

बैंगलोर में हुई सामूहिक छेड़ छाड़ की घटना ने जहा सभी को झकझोर दिया है ! वही कुछ मनचलो की हिम्मत इतनी बढ़ गयी है की राजधानी दिल्ली को भी दूसरा बैंगलोर बनाने की कोशिश हो गयी ! लेकिन  देश की राजधानी को दिल्ली पुलिस ने एक बार फिर शर्मसार होने से बचा लिया।  31 दिसंबर को पूरा देश नए साल का जश्न मना रहा था. उसी दौरान दिल्ली के मुखर्जी नगर इलाके में एक चौंका देने वाली वारदात हुई. मुखर्जी नगर इलाके की इस गली से एक लड़का और लड़की बाइक पर जा रहे थे, जैसे ही वो इस चौराहे पर पहुंचे

 यहां खड़े कुछ मनचलों ने उस लकड़ी को बाइक से खींचने की कोशिश की और लड़की को गलत ढंग से छूने लगे !लड़की ने शोर मचाया, सामने खड़े दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल अनिल कौशिक ने जैसे ही ये देखा कि कुछ लड़के लड़की के साथ छेड़खानी कर रहे है। उसने तुरंत सामने जाकर लड़की को उन मनचलो के चंगुल से छुड़ाया। उन्होंने पीछे से उन लड़को को दौड़ाकर पकड़ने की कोशिस  की और घिसट गए ! पुलिस को देखकर भीड़ का फ़ायदा उठाकर वो लड़के फरार हो गए.थोड़ी ही देर बाद यहाँ लड़के इकट्ठा होना शुरू हो गए और देखते ही देखते भीड़ लग गई. भीड़ ने दिल्ली पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया. 1000 के आस पास लड़के पुलिस को दौड़ा रहे थे, पुलिस की संख्या 20 थी. एक टाइम में इतने लड़कों को संभालना दिल्ली पुलिस के भारी हो रहा था. पुलिस अपनी जान बचाने के लिए चौकी की तरफ भागी, लेकिन लड़के यहाँ भी पहुँच गए। आगे पढ़िए। .

1 of 2

loading...
SHARE